Google+
Lyrics Pouch
Play Random Songs

उड़ जा काले कावा - Song Hindi lyrics and Download

यह गाना ग़दर- एक प्रेम कथा मूवी का है। यह गाना गीत- आनन्द बख़्शी, संगीत- उत्तम सिंह, गायक- उदित नारायन, अल्का याज्ञिक, निसार एस । ने गाया है


उड़ जा काले कावा Hindi Lyrics

उड़जा काले कावाँ, तेरे मुँह विच खण्ड पावाँ
लेजा तू संदेशा मेरा, मै सदके जावाँ

बाग़ों में फिर झूले पड़ गये
पक गई मिठियाँ अम्बियाँ
ये छोटी सी ज़िन्दगी के, राता लम्बियाँ लम्बियाँ
ओ घर आजा परदेसी के तेरी मेरी इक जिन्दडी -२

छम छम करता आया मौसम
प्यार के गीतों का, हो..
छम छम करता आया मौसम
प्यार के गीतों का
रस्ते पे अँखियाँ रस्ता देखे
बिछड़े मींतों का

आज मिलन की रात ना छेड़ो बात जुदाई बाली
मैं चुप तू चुप, प्यार सुने,बस प्यार ही बोले ख़ाली
ओ घर आजा परदेसी, के तेरी मेरी इक जिन्दडी
होये, ओ घर आजा परदेसी, के तेरी मेरी इक जिन्दडी

ओ मितरा, ओ यारा, यारी तोड़के मत जाना, हो
ओ मितरा, ओ यारा, यारी तोड़के मत जाना
मैंने जग छोडा, तू मुझको छोड़के मत जाना

ऐसा हो नहीं सकता, हो जाये तो मत घबराना
मैं दौड़ी आऊँगी, तू बस एक आबाज लगाना
ओ घर आजा परदेसी, के तेरी मेरी इक जिन्दडी
ओ घर आजा परदेसी, के तेरी मेरी इक जिन्दडी

उड़जा काले कावा तेरे मुँह विच खण्ड पावाँ
लेजा तू संदेशा मेरा मै सदके जावाँ
बाग़ों में फिर झूले पड़ गये
पक गई मिठियाँ अम्बियाँ
ये छोटी सी ज़िन्दगी दे राता लम्बियाँ लम्बियाँ
ओ घर आजा परदेसी के तेरी मेरी इक जिन्दरी

ओ घर आजा परदेसी, के तेरी मेरी इक जिन्दरी
ओ घर आजा परदेसी, के तेरी मेरी इक जिन्दरी