Google+
Lyrics Pouch
Play Random Songs

परवत से काली घटा टकराई - Song Hindi lyrics and Download

यह गाना गाने बारिश के मूवी का है। यह गाना फिल्म- चांदनी, गीत- आनन्द बक्षी, संगीत- शिव- हरि, गायक- आशा भोसले, विनोद राठौर। ने गाया है


परवत से काली घटा टकराई Hindi Lyrics

(परवत से काली घटा टकराई
पानी ने कैसी ये आग लगाई) -२
हाय आग लगाई
दिल देने दिल लेने की रुत आई
परवत से काली घटा टकराई
पानी ने कैसी ये आग लगाई
हे आग लगाई
हाय आग लगाई

(मारे शरम के मै तो सिमट गई
चुनरी मेरी मुझसे लिपट गई) -२
(ऐसे में तूने जो ली अंगडाई) -२
हाय आग लगाई
दिल देने दिल लेने की रुत आई

परवत से काली घटा टकराई
पानी ने कैसी ये आग लगाई
हे आग लगाई
हाय आग लगाई

मस्ती में आके मै झूम लूँगा
रोको मुझे मै तुम्हें चूम लूंगा
(मस्ती में आके मै झूम लूँगी
रोको मुझे मै तुम्हें चूम लूंगी) -२
मस्ती में आके मै झूम लूँगा
रोको मुझे मै तुम्हें चूम लूंगा
(छेडो ना मुझको यूं छोडो कलाई) -२
आग लगाई
दिल देने दिल लेने की रुत आई

परवत से काली घटा टकराई
पानी ने कैसी ये आग लगाई
परवत से काली घटा टकराई
पानी ने कैसी ये आग लगाई
आग लगाई
दिल देने दिल लेने की रुत आई

More Song's hindi lyrics from gane Barish ke

टिप टिप बरसा पानी
आज रपट जायें तो
भीगी भीगी रातो में
बरसे रे सावन
बरसो रे
बरसात के दिन आये
आयेगा मजा अब बरसात का
अब के सावन में जी डरे
सावन जो आग लगाये
प्यार हुआ इकरार हुआ
रिमझिम के गीत सावन गाये
झिलमिल सितारों का
रिम झिम रिम झिम
मेघा रे मेघा
पानी रे पानी
आया सावन झूम के
पड़ गये झूले सावन रुत आई
लगी आज सावन की
हाये हाये ये मजबूरी
बारिश
तुम ही हो
गले लग जा
बारिश यारियाँ
टिप टिप टिप बूंद पड़ी
धक धक जियरा करे
ये जो हल्का हल्का सुरूर है
भीगी हूँ मै बौछार से
दिल मिलने को तरसता है जब
सावन का महीना आया है
भीगी हुई है रात मगर
कटता नहीं है दिन
छतरी ना खोल बरसात में
आग लगे तनमन में
सावन आया है
बादल यूँ गरजता है
रिमझिम के तराने लेके आई बरसात
ओ धटा साँवरी
बरखा रानी जरा जमके बरसो
छम छम
ओ सजना बरखा बहार आई